Rajasthan Marriage New Rule: इस नियम से शादी करने पर सरकार देगी 10 लाख रुपए

Rajasthan Marriage New Rule: इस नियम से शादी करने पर सरकार देगी 10 लाख रुपए: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बजट में अंतरजातीय विवाह को लेकर बड़ा फैसला लिया था. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने अलग अलग जातियों के बीच भाईचारा बढ़ाने के लिए ऐतिहासिक फैसला लिया है. प्रदेश में अब अंतरजातीय विवाह करने पर सरकार 10 लाख रुपए देगी. इससे पहले भी ये योजना थी लेकिन तब सिर्फ 5 लाख रुपए मिलते थे. लेकिन अब सरकार ने इस योजना की राशि को बढ़ाते हुए 5 लाख रुपए से 10 लाख रुपए कर दिया है. सरकार के इस फैसले से न सिर्फ अलग अलग जातियों के बीच भाईचारा बढ़ेगा. बल्कि अलग जाति में होने वाले विवाह के बाद बढ़ने वाले तनाव को भी कम करने में मदद मिलेगी – 10वीं / 12वीं पास सरकारी नौकरी की अपडेट सबसे पहले पाने के लिए इस ग्रुप से जुड़ें : Join Now

 

शिक्षा, सरकारी नौकरियों, रिजल्ट, एडमिट कार्ड, योजनाओं की अपडेट सबसे पहले पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप और टेलीग्राम ग्रुप से जुड़ें – Join Telegram Group | Join Whatsapp Group

Rajasthan Marriage New Rule

Rajasthan Marriage New Rule

हमारे Telegram चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

Rajasthan Marriage New Rule

Rajasthan Marriage New Rule राजस्थान मैरिज न्यू रूल्स, राजस्थान विवाह नया नियम, डॉक्टर सविता बेन अम्बेडकर अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना, राजस्थान अन्‍तर्जातीय विवाह योजना, Inter-caste Marriage Rajasthan, Inter-caste Marriage Scheme Rajasthan:- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस साल के बजट में ये घोषणा की थी. उस घोषणा को अब लागू भी कर दिया गया है. राजस्थान सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने इससे जुड़े आदेश भी जारी कर दिए है. इस योजना का नाम डॉ. सविता बेन अम्बेडकर अंतरजातीय संशोधित विवाह योजना है. इसमें 5 लाख रुपए शादी के समय तुरंत ही ज्वाइंट अकाउंट में जमा हो जाएंगे. तो वहीं 5 लाख रुपए की 8 साल की एफडी में जमा होंगे.

 

हमारे Whatsapp ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

 

कैसे मिलेगा योजना का फायदा

राजस्थान में ये योजना साल 2006 में शुरू हुई थी. इसे वसुंधरा राजे सरकार में शुरू किया गया था. उस समय अंतरजातीय विवाह में 50 हजार रूपए दिए जाते थे. बाद में साल 2013 में इसे बढ़ाकर 5 लाख रुपए कर दिया था. अब अशोक गहलोत सरकार ने फिर से इसे 5 लाख रुपए से बढ़ाकर 10 लाख रुपए कर दिया है. इसमें केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों का हिस्सा होता है. केंद्र सरकार 25 प्रतिशत हिस्सा देती है. राज्य सराकर इसमें 75 प्रतिशत हिस्सा देती है. राजस्थान सरकार ने पिछले साल इस योजना में 33.55 करोड़ रुपए का बजट दिया था.

 

सरकारी नौकरी और शिक्षा से संबंधित खबरों की अपडेट सबसे पहले पाने के लिए यहाँ क्लिक करें : Click Here

 

यह भी पढ़ें :-

 

Important Links

सरकारी योजनाओं की अपडेट सबसे पहले पाने के लिए इस ग्रुप से जुड़ें Join Now
Join on Telegram Click Here
Join Whatsapp Group Click Here
Home Page Click Here

Leave a Comment

Join TelegramJoin WhatsApp
WhatsApp Group